युवाओं को क्या मिला बजट से ? ये जवाब आपको खुश करेंगे

February 2, 2017 education, social, Uncategorized0
Spread the love for our web
Budget – young businessman drawing information concept on whiteboard.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के बजट को सभी वर्गों के लिए काम का बजट बताया हैं. जहां विपक्ष का आरोप है कि इस बजट में युवाओं के लिए कुछ नहीं हुआ वहीं सरकार का कुछ और कहना है. हालांकि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बजट पेश करते समय युवाओं का भी ध्यान रखा है और उसी की बानगी ये ऐलान साबित हो सकते हैं. तो जानें कि इस बजट से देश के युवाओं को क्या मिला है.

युवाओं के लिए इस बजट से निकली ये सौगात
मौजूदा समय में महज 60 जिलो में मौजूद प्रधानमंत्री कौशल केंद्रों की संख्या बढ़ाई जाएगी. इसके लिए सरकार 600 से भी ज्‍यादा जिलो में प्रधानमंत्री कौशल केंद्रों बनवाएगी. वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने बजट में प्रधानमंत्री कौशल योजना को 600 से भी ज्‍यादा जिलो में पहुंचाने का प्रस्‍ताव रखा है. स्किल इंडिया मिशन को भी मजबूत किया जाएगा.

संकल्‍प (स्किल एक्‍वीजिशन एंड नॉलेज अवेयरनेस फॉर लाइवलीहुड प्रमोशन प्रोग्राम) लॉन्‍च
वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने संकल्‍प कार्यक्रम लॉन्‍च करने का ऐलान किया है. इसके लिए 4000 करोड़ रुपए का आवंटन किया जाएगा. युवाओं को कारोबार, बाजार संबंधी ट्रेनिंग देने के लिए इस प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल होगा. 3.5 करोड़ से भी ज्‍यादा युवाशक्ति को इसका फायदा मिलेगा. वित्‍त मंत्री के युवाओं के लिए संकल्‍प प्रोग्राम के लिए 4 हजार करोड़ रुपए देने के प्रस्‍ताव के तहत 3.5 करोड़ से भी ज्‍यादा युवाओं को मार्केट ट्रेनिंग दी जाएगी.

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी
हायर एजुकेशन के सभी प्रवेश परीक्षा लेने के लिए अब नेशनल टेस्टिंग एजेंसी बनाई जाएगी और यही इनके परीक्षा लेगी. सीबीएसई और अन्‍य एजेंसियों को इस जिम्‍मेदारी से मुक्‍त कर दिया गया है. बजट में जेटली ने हायर एजुकेशन के लिए यूजीसी में कई रिफॉर्म्‍स करने का प्रस्‍ताव रखा है. इसमें कॉलेज और शैक्षणिक संस्थानों को स्‍वायत्‍तता देने पर भी जोर दिया गया है

स्किल एक्‍वीजिशन एंड नॉलेज अवेयरनेस फॉर लाइवलीहुड प्रमोशन प्रोग्राम (स्‍ट्राइव)
अरुण जेटली ने बजट दस्तावेज में 2,200 करोड़ रुपए इंडस्ट्रियल वैल्‍यू इनहांसमेंट (स्‍ट्राइव) के अगले फेज के लिए जारी करने का ऐलान किया है. बजट में वित्‍त मंत्री ने स्किल एक्‍वीजिशन प्रोग्राम के लिए 4 हजार करोड़ रुपये जारी करने का ऐलान किया. सालाना प्रशिक्षण की समीक्षा करने के लिए एक सिस्‍टम बनाने का प्रस्‍ताव भी बजट भाषण में रखा गया है. ये प्रोग्राम आईटीआई और अप्रेंटिस प्रोग्राम में ट्रेनिंग देने के लिए उपयोगी साबित होगा.

स्किल सेंटर्स खोलेगी सरकार
बजट में वित्त मंत्री ने 100 स्किल सेंटर्स खोलने का ऐलान किया जिसके तहत 100 से ज्‍यादा इंटरनेशनल स्किल सेंटर्स भी स्‍थापित होंगे. यहां युवाओं को एडवासं ट्रेनिंग और विदेशी भाषाओं के कोर्स करने का मौका मिलेगा. विदेशों में काम करने की इच्छा रखने वाले युवाओं को भी फायदा इसी से मिलेगा.

5 हजार स्नात्कोत्तर सीटें हर साल बढ़ेगी
सरकार की योजना हर साल 5 हजार पोस्‍ट ग्रैजुएट यानी स्नात्कोत्तर सीटें बढ़ाने की योजना है. ऑनलाइन एजुकेशन को बढ़ावा देने के लिए ‘स्‍वयंम’ प्‍लैटफॉर्म को बनाया और बढ़ाया जाएगा. इसमें 350 से भी ज्‍यादा कोर्स ऑनलाइन मुहैया किया जाएंगे. इसके अलावा डीटीएच के जरिए भी स्‍वयंम तक पहुंच बनाई जा सकेगी.

आम बजट 2016-17 में इंफ्रास्ट्रक्चर और कारोबार को आसान बनाने पर खास जोर दिया गया है, जिससे रोजगार बाजार पर पॉजिटिव असर होगा. सरकार ने बजट में डिजिटलीकरण, कामकाज और राजनीति में पारदर्शिता, महिलाओं और युवाओं को मजबूत करने, शिक्षा की गुणवत्ता, ग्रामीण भारत पर जोर दिया है. ये सब कुल मिलाकर कई सेक्टर्स में नौकरियों को बढ़ाएंगे ऐसा माना जा सकता है.

टीमलीज की सह-संस्थापक और ईवीपी रितुपर्णा चक्रवर्ती ने कहा, ‘‘सीधे-सीधे बजट युवाओं के लिए टूरिज्म, फुटवियर और कपड़ा उद्योग में रोजगार का संकेत देता है. बुनियादी ढांचे पर जोर और कारोबार सरलता सरकार की विशेषरूप से मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर में नौकरियां बढ़ाने की पहल के अनुरूप है.’’ आम बजट में स्मॉल एंड मीडियम इंडस्ट्री के लिए कॉर्पोरेट कर की दर को कम करने का प्रस्ताव किया गया है. निश्चित तौर पर इससे नौकरियों की संख्या में भी इजाफा होगा.

कुल मिलाकर बजट में नौकरियों का सीधा और प्रत्यक्ष ऐलान तो नहीं हुआ लेकिन इन तरीकों से युवाओं को नौकरी और रोजगार के मौके मुहैया कराने के लिए सरकार कोशिशें करती दिख रही है.

Leave a Comment