‘पद्मावती’ विवाद में कूदे शशि थरूर, बोले- फिल्म की बजाय राजस्थानी महिलाओं की शिक्षा पर दें ध्यान

Uncategorized0
Spread the love for our web

shashi-tharoor-620x400

फिल्मकार संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ की आलोचना करने वाले लोगों पर निशाना साधते हुए कांग्रेस नेता शशि थरूर ने सोमवार को कहा कि फिल्म पर विवाद राजस्थानी महिलाओं की स्थिति पर ध्यान देने का एक मौका है और शिक्षा ‘घूंघट’ या सिर पर पर्दे से ज्यादा महत्वपूर्ण है। थरूर ने ट्वीट कर कहा, “‘पद्मावती’ विवाद आज राजस्थानी महिलाओं की स्थिति पर ध्यान केंद्रित करने का एक मौका है, न कि छह शताब्दी पुरानी महारानियों पर ध्यान केंद्रित करने का। राजस्थान की महिला साक्षरता दर सबसे कम है। शिक्षा ‘घूंघट’ से ज्यादा जरूरी है।”

‘पद्मावती’ 1 दिसंबर को रिलीज हो रही है। फिल्म के विषय के कारण कुछ समूह इसका विरोध कर रहे हैं। खासकर राजपूत मुख्य रूप से दावा कर रहे हैं कि फिल्म इतिहास को बिगाड़ रही है और रानी पद्मावती का गलत चित्रण कर रही है। जबकि भंसाली ने इससे इनकार किया है। गृह मंत्री राजनाथ सिंह को एक पत्र में केंद्रीय बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन (सीबीएफसी) सलाहकार समिति के सदस्य और भाजपा नेता अर्जुन गुप्ता ने कहा है कि भंसाली को ‘देशद्रोह’ के लिए दंडित किया जाना चाहिए।

मुखपृष्ठराष्ट्रीय‘पद्मावती’ विवाद में कूदे शशि थरूर, बोले- फिल्म की बजाय राजस्थानी महिलाओं की शिक्षा पर दें ध्यान

‘पद्मावती’ विवाद में कूदे शशि थरूर, बोले- फिल्म की बजाय राजस्थानी महिलाओं की शिक्षा पर दें ध्यान
थरूर ने ट्वीट कर कहा कि ‘पद्मावती’ विवाद आज राजस्थानी महिलाओं की स्थिति पर ध्यान केंद्रित करने का एक मौका है, न कि छह शताब्दी पुरानी महारानियों पर ध्यान केंद्रित करने का।
Author आईएएनएस, जनसत्ता ऑनलाइन नई दिल्ली | November 13, 2017 21:48 pm
1.4K
Shares

Share

[‘पद्मावती’ विवाद में कूदे शशि थरूर, बोले- फिल्म की बजाय राजस्थानी महिलाओं की शिक्षा पर दें ध्यान]
X
शशि थरूर ने यह बात ट्वीट करके कही। (फाइल फोटो)

फिल्मकार संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ की आलोचना करने वाले लोगों पर निशाना साधते हुए कांग्रेस नेता शशि थरूर ने सोमवार को कहा कि फिल्म पर विवाद राजस्थानी महिलाओं की स्थिति पर ध्यान देने का एक मौका है और शिक्षा ‘घूंघट’ या सिर पर पर्दे से ज्यादा महत्वपूर्ण है। थरूर ने ट्वीट कर कहा, “‘पद्मावती’ विवाद आज राजस्थानी महिलाओं की स्थिति पर ध्यान केंद्रित करने का एक मौका है, न कि छह शताब्दी पुरानी महारानियों पर ध्यान केंद्रित करने का। राजस्थान की महिला साक्षरता दर सबसे कम है। शिक्षा ‘घूंघट’ से ज्यादा जरूरी है।”

‘पद्मावती’ 1 दिसंबर को रिलीज हो रही है। फिल्म के विषय के कारण कुछ समूह इसका विरोध कर रहे हैं। खासकर राजपूत मुख्य रूप से दावा कर रहे हैं कि फिल्म इतिहास को बिगाड़ रही है और रानी पद्मावती का गलत चित्रण कर रही है। जबकि भंसाली ने इससे इनकार किया है। गृह मंत्री राजनाथ सिंह को एक पत्र में केंद्रीय बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन (सीबीएफसी) सलाहकार समिति के सदस्य और भाजपा नेता अर्जुन गुप्ता ने कहा है कि भंसाली को ‘देशद्रोह’ के लिए दंडित किया जाना चाहिए।
संबंधित खबरें

पद्मावती विवाद: सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म की रिलीज पर प्रतिबंध लगाने से किया इनकार
पद्मावती विवाद: सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म की रिलीज पर प्रतिबंध लगाने से किया इनकार
‘पद्मावती’ पर लगा सती प्रथा को बढ़ावा देने का आरोप, इलाहाबाद हाई कोर्ट में PIL दायर
‘पद्मावती’ पर लगा सती प्रथा को बढ़ावा देने का आरोप, इलाहाबाद हाई कोर्ट में PIL दायर
फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े संघ आए ‘पद्मावती’ के समर्थन में, सरकार की चुप्पी पर उठाया सवाल
फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े संघ आए ‘पद्मावती’ के समर्थन में, सरकार की चुप्पी पर उठाया सवाल
दीप‍िका का पल्‍लू सरका तो मदद को आगे आए रणवीर स‍िंंह! मम्‍मी-पापा के साथ ड‍िनर पर ले गए थे
दीप‍िका का पल्‍लू सरका तो मदद को आगे आए रणवीर स‍िंंह! मम्‍मी-पापा के साथ ड‍िनर पर ले गए थे
पद्मावती का दूसरा गाना एक दिल एक जान रिलीज: रानी पद्मिनी और महारावल के प्यार की मिली झलक
पद्मावती का दूसरा गाना एक दिल एक जान रिलीज: रानी पद्मिनी और महारावल के प्यार की मिली झलक
दीपिका पादुकोण को मिल रही विदेश से टक्कर! शकीरा का ‘घूमर डांस’ हुआ वायरल
दीपिका पादुकोण को मिल रही विदेश से टक्कर! शकीरा का ‘घूमर डांस’ हुआ वायरल
पद्मावती विवाद: सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म की रिलीज पर प्रतिबंध लगाने से किया इनकार
पद्मावती विवाद: सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म की रिलीज पर प्रतिबंध लगाने से किया इनकार
‘पद्मावती’ पर लगा सती प्रथा को बढ़ावा देने का आरोप, इलाहाबाद हाई कोर्ट में PIL दायर
‘पद्मावती’ पर लगा सती प्रथा को बढ़ावा देने का आरोप, इलाहाबाद हाई कोर्ट में PIL दायर
फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े संघ आए ‘पद्मावती’ के समर्थन में, सरकार की चुप्पी पर उठाया सवाल
फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े संघ आए ‘पद्मावती’ के समर्थन में, सरकार की चुप्पी पर उठाया सवाल
दीप‍िका का पल्‍लू सरका तो मदद को आगे आए रणवीर स‍िंंह! मम्‍मी-पापा के साथ ड‍िनर पर ले गए थे
दीप‍िका का पल्‍लू सरका तो मदद को आगे आए रणवीर स‍िंंह! मम्‍मी-पापा के साथ ड‍िनर पर ले गए थे

https://platform.twitter.com/widgets.js

सर्वोच्च न्यायालय ने फिल्म की रिलीज पर प्रतिबंध लगाने से इनकार कर दिया है। वहीं, कई फिल्म संघ सोमवार को निर्देशक संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ के समर्थन में आगे आए और फिल्म की रिलीज के खिलाफ राजपूत समूहों की ओर से दी जाने वाली धमकियों पर सरकार की चुप्पी पर सवाल उठाया। द इंडियन फिल्म एंड टेलीविजन डायरेक्टर्स एसोसिएशन (आईएफटीडीए) के साथ ही सिने एंड टीवी आर्टिस्ट्स एसोसिएशन (सीआईएनटीएए), वेस्टर्न इंडिया सिनेमैटोग्राफर्स एसोसिएशन (डब्ल्यूआईसीए), स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन (एसडब्ल्यूए), एसोसिएशन आफ सिने एंड टेलीविजन आर्ट डायरेक्टर्स एंड कास्ट्यूम डिजाइनर्स (एसीटीएडीसीडी) ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में भंसाली का समर्थन किया।

Leave a Comment