आतंकवाद सबसे बड़ा खतरा, ASEAN को एकजुट होकर लड़ना होगा: मोदी

Uncategorized0
Spread the love for our web

modi-modi-new_1510665561

मनीला.नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को ASEAN में कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में रीजनल कोऑपरेशन बढ़ाना होगा। मोदी ने कहा, “आतंकवाद और चरमपंथ इस वक्त सबसे बड़ा खतरा हैं, जिनका सामना हम लोग कर रहे हैं। हममें से हर किसी ने आतंकवाद और चरमपंथ से लड़ने में काफी कोशिशें की हैं। अब वक्त आ गया है कि हम मिलकर इसके खिलाफ लड़ें और इस संंबंध में अपने सहयोग को बढ़ाएं।” आसियान समिट में 3 दिन तक हिस्सा लेने के बाद मोदी मंगलवार शाम दिल्ली के लिए रवाना हो गए।
चीन पर क्या बोले मोदी?
– ASEAN में अपनी स्पीच के दौरान मोदी ने सीधे चीन का नाम नहीं लिया, लेकिन कहा- रिसोर्स रिच इंडो पैसेफिक रीजन में रूल बेस्ड सिक्युरिटी आर्किटेक्चर होना चाहिए।
– उन्होंने कहा, “भारत ASEAN को भरोसा दिलाता है कि हम ऐसे रूल बेस्ड सिक्युरिटी इन्फ्रास्ट्रक्चर को सपोर्ट जारी रखेंगे, जो इस रीजन के हितों के लिए बेहतर और शांतिपूर्ण विकास के लिए होगा।”
आसियान लीडर्स के स्वागत को तैयार सवा सौ करोड़ भारतीय
– मोदी ने कहा, “सवा सौ करोड़ लोग भारत और SEAN के साझा मूल्यों, भविष्य को लेकर बात करते हैं। रिपब्लिड डे पर ASEAN लीडर्स के स्वागत के लिए सवा सौ करोड़ भारतीय इंतजार कर रहे हैं। भारत अगले साल जनवरी में विशेष ASEAN समिट भी आयोजित करेगा। भारत और ASEAN के बीच रिश्ते मजबूत हो रहे हैं।”

मोदी जेंटलमैन और हमारे दोस्त, वो बेहतरीन काम कर रहे हैं: ट्रम्प
– मोदी को ट्रम्प ने एक ऐसा दोस्त बताया जो बेहतरीन काम कर रहा है। ट्रम्प ने मोदी को जेंटलमैन भी कहा। उन्होंने कहा- प्रधानमंत्री यहां मेरे साथ हैं। हम पहले भी व्हाइट हाउस में मिल चुके हैं। वो अब हमारे एक ऐसे दोस्त बन गए हैं जो बेहतरीन काम कर रहे हैं। कई मसलों को हमने सुलझाया है और आगे भी ऐसा करते रहेंगे। भारत से अब काफी अच्छी रिपोर्ट्स सामने आ रही हैं। बता दें कि दोनों नेताओं के बीच चार महीने में यह दूसरी मुलाकात थी।
– मोदी और ट्रम्प के बीच सिक्युरिटी इश्यूज के अलावा आपसी महत्व के कुछ मुद्दों पर भी बातचीत हुई थी। इसमें बाइलेटरल ट्रेड बढ़ाना भी शामिल है। (पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…)
भारत-US दुनिया की सबसे मजबूत आर्मी बनें: व्हाइट हाउस
– नरेंद्र मोदी और डोनाल्ड ट्रम्प की ASEAN समिट के दौरान हुई मुलाकात के बाद अमेरिका ने कहा है कि दोनों ही नेता चाहते हैं कि अमेरिका और भारत दुनिया की सबसे मजबूत आर्मी बनें। व्हाइट हाउस ने मंगलवार को जारी बयान में इस बात की जानकारी दी है। बता दें कि मनीला में चल रही आसियान समिट (आसियान शिखर सम्मेलन) के दौरान सोमवार को मोदी और ट्रम्प की मुलाकात हुई थी। चार महीने में मोदी और ट्रम्प की यह दूसरी मुलाकात थी।

Leave a Comment